Home उत्तराखंड कालसी की आशा कार्यकत्रियां बोलीं, सम्मानजनक मानदेय मिलने पर ही खत्म होगा...

कालसी की आशा कार्यकत्रियां बोलीं, सम्मानजनक मानदेय मिलने पर ही खत्म होगा धरना

797
0
SHARE

कालसी। आशाओं ने भारी वर्षा में भी गांवों से पैदल आकर कालसी ब्लाक पीएचसी हास्पिटल में चल रहे धरना स्थल पर पहुंचकर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया। विकासनगर व सहसपुर में भी आशाओं ने कार्य का बहिष्कार कर धरना दिया। कार्यकत्रियों ने कहा कि उनकी सम्मानजनक मानदेय मिलने की मांग पूरी होने के बाद ही वे धरना प्रदर्शन समाप्त करेंगीं।

गौरतलब है कि आशा कार्यकत्रियां बीते लंबे समय से अन्य स्कीम वर्करों की भांति उन्हें भी न्यूनतम मानदेय मांग सरकार से कर रही हैं। उनका कहना है कि अभी तक सरकार की और से किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही इस दिशा में नहीं की गई जो सरकार की उनके प्रति नजरअंदाजी को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि रुबेला टीकाकरण और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की विभिन्न योजनाओं में आशाएं मुख्य भूमिका निभा रही हैं, लेकिन आशाओं को सिर्फ प्रतिपूर्ति राशि के भरोसे छोड़ दिया गया है। वह भी उन्हें समय पर नहीं दी जाती। आशाएं लंबे समय से उन्हें सम्मानजनक मानदेय देने की मांग कर रही है, लेकिन सरकार उनकी इस मांग को अनसुना कर रही है जिसके चलते आशाओं को आर्थिक तंगी से जूझना पड़ रहा है। आशाओं ने मांग की है कि मंहगाई को देखते हुए उनके भत्तों में मंहगाई के अनुरूप बढ़ोत्तरी की जाए। सीएचसी विकासनगर और सहसपुर में भी आशाओं ने अपना धरना प्रदर्शन जारी रहा।

धरने पर बैठने वालों में जैनब, पार्वती, मीना, विनिता, कलावती, सूरमा जोशी, सरिता, राजबाला, सुशीला, लक्ष्मी, पारो, आशा देवी आदि शामिल रहीं।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Kalsi, Helth Worker, Dimands. Andolan

LEAVE A REPLY