Home राजनीतिक सीएम रावत ने किया भ्रष्टाचार के खिलाफ धर्मयुद्ध का ऐलान

सीएम रावत ने किया भ्रष्टाचार के खिलाफ धर्मयुद्ध का ऐलान

1231
0
SHARE

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत रविवार को नगर निगम में नगर विकास कर्मचारी संघ द्वारा आयोजित अभिनंदन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस अवसर पर जनता का आभार प्रकट करते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि प्रदेश की जनता ने हम पर विश्वास जताया है और हम उनकी उम्मीद पर खरा उतरेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ते हुए कठोर निर्णय लेने पड़ेंगे। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई धर्मयुद्ध की तरह लड़ी जाएगी।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई शुरू कर दी गयी है। ऊधमसिंहनगर में 6 अधिकारियों को निलम्बित कर दिया गया है नैनीताल में अवैध खनन वाले मामले में डीएफओ एवं सम्बन्धित अधिकारियों को मुख्यालय अटैच कर दिया गया है। मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि आने वाले 2 वर्षों में राज्य सरकार किये जा रहे विकास कार्य दिखाई देंगे। सबका साथ सबका विकास के विचार पर कार्य करते हुए योजनाएं तैयार की जाएंगी।

मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि पलायन को रोकने के लिये एक समिति बनाई जाएगी। अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से लगा राज्य होने के कारण स्थानीय लोगों का सहयोग वांछनीय है। इसके लिये भी सीमांत क्षेत्रों में पलायन रूकना आवश्यक है। पलायन को रोकने के लिये कृषि पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

इस अवसर पर विधायक श्री खजानदास, विधायक एवं मेयर श्री विनोद चमोली सहित नगर निगम पार्षद सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद थे।

भ्रष्टाचार के खात्मे को ही मिला भारी बहुमत :-
देहरादून। बीजापुर अतिथिगृह में मसूरी विधायक श्री गणेश जोशी के नेतृत्व में आये मसूरी विधानसभा क्षेत्र के ग्राम प्रधानों एवं क्षेत्रवासियों के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत का अभिनन्दन किया। मुख्यमंत्री रावत ने क्षेत्रवासियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि सरकार आमजन की भावना के अनुरूप कार्य करेगी। उन्होंने कहा कि हमारी लड़ाई भ्रष्टाचार के खिलाफ है और यह भारी बहुमत हमें भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने के लिये ही मिला है।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, CM, Declaration, Crusade, Corruption

LEAVE A REPLY