Home स्वास्थ्य सांसद आदर्श गांव देवली-भणिग्राम में डायरिया का प्रकोप

सांसद आदर्श गांव देवली-भणिग्राम में डायरिया का प्रकोप

1176
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। सांसद आदर्श गांव देवली-भणिग्राम में डायरिया के मरीजों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। एक सप्ताह के भीतर 21 लोगां में डायरिया के लक्षण पाये गये हैं। गांव में उल्टी और दस्त से ग्रामीण परेशान हैं और स्वास्थ्य महकमा है कि गांव में चिकित्सा टीम को तैनात करने को तैयार नहीं है। ऐसे में ग्रामीणों की समस्याएं बढ़ती ही जा रही हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर सांसद भुवन चन्द्र खण्डूड़ी ने देवली-भणिग्राम को गोद लिया था। ग्रामीणों का आरोप है कि जब से सांसद ने इस गांव को गोद लिया तभी से सभी विकास कार्य ठप हो गए हैं। कुछ दिनों पहले गांव में डायरिया की शिकायत मिलने पर ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग को सूचना दी। पहले तो शिकायत करने के दो दिन बाद चिकित्सकीय टीम गांव में पहुंची, जिसके बाद 32 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। इनमें से 13 लोगों में डायरिया के लक्षण पाये गये। चिकित्सकीय टीम ग्रामीणों को दवा देकर चलती बनी। वहीं गांव में हर दिन डायरिया के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। सूत्रों का कहना है कि आठ और लोगों में भी डायरिया की शिकायत पाई गई है। क्षेत्र पंचायत सदस्य गणेश तिवाड़ी ने बताया कि सांसद आदर्श ग्राम देवली-भणिग्राम में दिन-प्रतिदिन डायरिया के मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। उन्होंने कहा कि गांव का दुर्भाग्य है जो सांसद जी ने गोद लिया। गांव में कईं एनजीओ काम कर रहे थे जो ग्रामीणों की मदद करते थे, मगर जब से सांसद ने गांव को गोद लिया तब से विकास कार्य ठप पड़ गये हैं।

मामले में जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि सांसद आदर्श गांव में डायरिया के मरीजों की संख्या बढ़ रही है, जिसे देखते हुए समय-समय पर चिकित्सा टीम को गांव में भेजा जा रहा है।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, MP Village, Diarrhea attack

 

LEAVE A REPLY