Home क्राइम सफलता : सोशल मीडिया बनी गुमशुदा बच्चों को खोजने में दून पुलिस...

सफलता : सोशल मीडिया बनी गुमशुदा बच्चों को खोजने में दून पुलिस की मददगार

854
0
SHARE

देहरादून। उत्तराखंड पुलिस ने अपनी कर्तव्यनिष्ठा की मिसाल कायम करते हुए सोशल मीडिया की मदद से लापता हुए दो मासूम बच्चों को खोजकर उनके परिजनों को सौंप दिया। दून पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए सोशल मीडिया पर गुमशुदा बच्चों की जानकारी प्रसारित की और 10 घंटों के भीतर ही बच्चों को खोज निकाला गया। बच्चों के परिजनों ने पुलिस की तत्परता और संवेदनशीलता के प्रति आभार जताया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार देहरादून जिले के थाना सहसपुर क्षेत्रान्तर्गत सेलाकुई निवासी संजय व कमलेश के पुत्र क्रिश (12) और सावंत (13) बुधवार 18 अप्रैल को अपने-अपने घर से लापता हो गये थे। बच्चों के परिजनों ने सेलाकुई पुलिस चौकी में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई, जिसके बाद पुलिस ने क्रिश व सावंत की फोटो के आधार पर छानबीन शुरू की।

बच्चों के सम्बन्ध में कोई जानकारी न मिलने से निराश परिजनों ने सोमवार 23 अप्रैल को अशोक कुमार, एडीजी अपराध एवं कानून व्यवस्था से गुहार लगाई। एडीजी अशोक कुमार ने मामले की गंभीरता को देखते हुए क्षेत्राधिकारी विकासनगर से फोन पर वार्ता कर गुमशुदा बच्चों को तुरंत बरामद करने तथा उनकी जानकारी को सोशल मीडिया मंच के माध्यम से प्रचारित करने हेतु निर्देशित किया गया।

अजय मनचंदा निवासी डोईवाला ने मणी माई मन्दिर, डोईवाला के पास देखा, जिनका हूलिया पुलिस द्वारा सोशल मीडिया में प्रसारित मैसेज से मिल रहा था। उन्होंने थाना सहसपुर से सम्पर्क कर बच्चों के सम्बंध में जानकारी उपलब्ध कराई। पुलिस तुरंत उनके परिजनों को साथ लेकर मणी माई मन्दिर पहुंची। पहचान के बाद दोनों बच्चों को उनके परिजनों को सौंप दिया गया। बच्चों के परिजनों ने पुलिस की कार्यशैली और तत्परता के प्रति आभार जताया है।

LEAVE A REPLY