Home स्वास्थ्य हार्ट की बीमारी कोरोनरी आर्टरी से दुनिया में हर साल 29 लाख...

हार्ट की बीमारी कोरोनरी आर्टरी से दुनिया में हर साल 29 लाख लोगों मौत

914
0
SHARE
धूम्रपान, उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह या इंसुलिन प्रतिरोध और घंटों तक बैठे रहना है बीमारी का कारण :

देहरादून। कोरोनरी आर्टरी डिजीज (सीएडी) नामक हृदय रोग हर साल 29 लाख लोगों को चपेट में ले लेता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, भविष्य में इनमें से 10 लाख लोग 40 साल से कम उम्र वाले हो सकते है। सीएडी विकासशील और विकसित देशों में मृत्यु दर में वृद्धि का एक सामान्य कारण है। यह भारत में भी मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक है और मृत्यु दर में इसका योगदान लगातार बढ़ रहा है। इस साल ज्यादा से ज्यादा लोगों को सीएडी के बारे में जागरूक करने का लक्ष्य रखा गया है।

देहरादून के मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग की प्रमुख और प्रिंसिपल कंसल्टेंट डॉ. प्रीति शर्मा ने बताया कि ऐसा माना जाता है कि कोरोनरी धमनी की आंतरिक परत को नुकसान या चोट पहुंचने के कारण कोरोनरी आर्टरी डिसीज होती है। धूम्रपान, उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, मधुमेह या इंसुलिन प्रतिरोध और एक ही घंटों तक बैठे रहने वाली जीवन शैली इस रोग की संभावना को और बढ़ा देती है। स्वस्थ आहार और शारीरिक रूप से सक्रिय रहना एक अच्छी आदत सांस धीमी होना, दिल का अनियमित तरीके से धड़कना, कमजोरी या चक्कर आना, मतली और पसीना आना सीएडी के कुछ अहम लक्षण हैं। जिन लोगों के परिवार में पहले भी हृदय रोग से पीड़ित सदस्य रहे हैं, उन्हें खास सावधानी बरतने और नियमित शारीरिक जांच-पड़ताल की आवश्यकता होती है

।डॉ. शर्मा ने यह भी बताया कि इस साल विश्व हृदय दिवस की थीम ‘छोटे बदलाव एक शक्तिशाली अंतर पैदा कर सकते है’ के तहत सीएडी के कारणों और लक्षणों के बारे में जागरूकता पैदा करने की जरूरत है और इसे रोकने के तरीकों का भी प्रसार करना होगा। इसके लिए शारीरिक रूप से सक्रिय होना, एल्कोहल का कम सेवन करना, तम्बाकू से बचना और कम शर्करा व नमक के साथ स्वस्थ आहार का उपभोग करना महत्वपूर्ण है।

बीमारी से बचाव को ये करें –

धूम्रपान छोड़े: धूम्रपान से किसी भी हृदय संबंधी बीमारी का खतरा दोगुना हो जाता है। इसलिए इससे बचना चाहिए।

स्वस्थ भोजन खाएं: हर रोज ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड से कम से कम 5 से 10 फीसदी कैलोरी प्राप्त करें। अच्छे स्रोतों में वनस्पति तेल, जैसे सूरजमुखी, मक्का और सोयाबीन के साथ-साथ मूंगफली और बीज भी शामिल हैं।

नियमित व्यायाम करें: प्रतिदिन लगभग 30 मिनट की शारीरिक गतिविधि दिल और पूरे शरीर की सेहत को बेहतर बनाने के लिए जरूरी है।

तनाव को कम करें: योग और ध्यान जैसी तकनीकों को अपनाकर आप तनाव से दूर रह सकते हैं।

(इस लेख में दी र्गइं जानकारियां देहरादून के मैक्स सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग की प्रमुख और प्रिंसिपल कंसल्टेंट डॉ. प्रीति शर्मा के स्वतंत्र विचार हैं। इस लेख को सामान्य जानकारी देने और शैक्षिक उद्देश्यों से प्रकाशित किया गया है।)

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Heart Disease, Died, 29 million people

 

 

LEAVE A REPLY