Home उत्तराखंड महिला ग्राम प्रधानों को “स्वच्छता चैम्पियन” पुरस्कार से नवाजा

महिला ग्राम प्रधानों को “स्वच्छता चैम्पियन” पुरस्कार से नवाजा

1106
0
SHARE

रुद्रप्रयाग। स्वच्छ शक्ति सप्ताह के अन्तर्गत जनपद को स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत अपनी ग्राम पंचायत को खुले में शौच से मुक्त करने व स्वच्छता के स्तर को बनाये रखने के लिए सराहनीय कार्य करने के लिए महिला ग्राम प्रधानों को स्वच्छता चैम्पियन का पुरस्कार दिया गया।
ब्लॉक सभागार अगस्त्यमुनि में हुए एक कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने ऐसे साठ से अधिक महिला ग्राम प्रधानों, आशा, एएनएम तथा आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिह्न देकर सम्मानित किया।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि स्वच्छता हम सब की जिम्मेदारी है, जिसे हमें शिद्दत से निभाना है। हमें प्रत्येक व्यक्ति में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करनी होगी, तभी स्वच्छ भारत मिशन का ध्येय पूरा होगा। हर मिशन की सफलता के लिए नियमों के साथ ही मानसिकता में बदलाव भी आवश्यक है। उन्होंने सम्मानित होने वाली महिला ग्राम प्रधानों को बधाई देते हुए कहा कि अभी तो गांव बदला है, अब समाज को बदलना बाकी है।

स्वजल परियोजना के प्रबन्धक सुरेन्द्र दत्त नौटियाल ने बताया कि जनपद में ऊखीमठ ब्लॉक पूर्ण रूप से ओडीएफ हो चुका है, जबकि अगस्त्यमुनि एवं जखोली ब्लॉक नब्बे प्रतिशत तक ओडीएफ हो चुके हैं। बताया कि भारत सरकार द्वारा एक से आठ मार्च तक स्वच्छ शक्ति सप्ताह मनाया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत महिलाओं को स्वच्छता के प्रति जागरूक एवं प्रोत्साहित करने के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। जनपद में भी विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। जिसमें प्रशिक्षण के साथ ही महिला जनप्रतिनिधियों को एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक का शैक्षिक भ्रमण भी कराया जायेगा।

इसी कड़ी में आठ मार्च महिला दिवस को प्रधानमंत्री द्वारा गुजरात में होने वाले भव्य कार्यक्रम में पूरे देश की चुनी हुई महिलाओं को सम्मानित किया जायेगा। जिसमें जनपद की नौ महिलायें भी शामिल हैं।

Key Words : Uttarakhand, Rudraprayag, women, Awards, health and Hygiene

LEAVE A REPLY