Home संस्कृति एवं संभ्यता रामलीला से हर दिन नई सीख : अग्रवाल

रामलीला से हर दिन नई सीख : अग्रवाल

895
0
SHARE
धर्मपुर में पर्वतीय रामलीला का मंचन शुरू, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने किया शुभारंभ :

देहरादून। पर्वतीय रामलीला कमेटी के तत्वावधान में धर्मपुर स्थित रवि मिततल मैमोरियल जूनियर हाईस्कूल में रामलीला का परंपरागत तरीके से शुभारंभ हो गया। विधानसभा अध्यक्ष प्रेम चंद अग्रवाल ने दीप प्रज्ज्वलित कर आयोजन का शुभारंभ किया।

गुरूवार को स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल ने पर्वतीय रामलीला मंचन के आठवें वर्ष में प्रवेश करने पर आयोजक मंडल को बधाई देते हुए कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के बताये रास्ते पर चलकर समाज की सभी बुराइयों को समाप्त किया जा सकता है। भगवान राम का व्यक्तित्व अनुकरणीय है। उन्होंने रामलीला देखने पहुंचे दर्शकों से कहा वे रामलीला के मंचन से हर दिन नई सीख हासिल करें। रामलीला के हर पात्र कुछ न कुछ सीख अवश्य देते हैं जिसे हमें अपने जीवन के आदर्शाें में शामिल करना चाहिए।

रामलीला कमेटी अध्यक्ष जीवन सिंह बिष्ट ने विधानसभा अध्यक्ष अग्रवाल का आभार जताया। इस अवसर पर कमेटी महासचिव मदन मोहन जोशी, मीडिया प्रभारी मनीष भगत, संरक्षक जीसी भट्ट, हरीश पांडे, सलाहकार प्रमोद पांडे, प्रदीप पपनै, हेमवती नंदन ओझा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष कैलाश चंद्र पांडे, उपाध्यक्ष चंद्र शेखर जोशी, संयुक्त सचिव संदीप ढैला, पुष्कर सिंह रौतेला, कैलाश पाठक, बबीता शाह, शेखर पंत, हरीश भंडारी, शेखर पपनै, सुंदर लाल आगरी, हरीश सिंह बिष्ट, शेखर चंद्र जोशी, बची सिंह बिष्ट आदि मौजूद थे।

श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा पंडाल :

देहरादून। पर्वतीय रामलीला कमेटी की ओर से धर्मपुर में शुरू हुए मंचन के पहले ही दिन लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला। क्षेत्र के सैकड़ों की संख्या में पहुंचे लोगों ने रामलीला मंचन का लुफ्त उठाया। पहले दिन नटी सूत्रधार, नारद मोह, रावण तपस्या और राम जन्म का भावपूर्ण मंचन किया गया। अंकित बूड़ाकोटी और विकास स्वामी ने नटी सूत्रधार के रूप में रामलीला का सार दर्शकों के बीच रखा। भगवान विष्णु का राम के रूप में अवतार, नारद मोह और रावण, कुंभकरण सहित विभीषण की तपस्या का मंचन दिखाया गया। राजा दशरथ का यज्ञ करने और उसके फलस्वरूप राम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न, का जन्म होते ही पूरा पंडाल श्रीराम के जयकारों से गूंज उठा।

मीडिया प्रभारी मनीष भगत ने बताया कि शुक्रवार को विश्वामित्र द्वारा राम-लखन याचना, ताड़का और सुबाहू वध, राम का जनकपुर भ्रमण और पुष्प वाटिका का मंचन होगा।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Dharampur, Ramlila, Launch

LEAVE A REPLY