Home अपना दून गजब : दून के कंडोली में जबरदस्ती हाइटेंशन लाइन बिछाने पहुंच...

गजब : दून के कंडोली में जबरदस्ती हाइटेंशन लाइन बिछाने पहुंच गए बिजली वाले

1039
0
SHARE

देहरादून। आबादी वाले इलाकों में बिजली की हाईटैंशन लाइन हटाने को लेकर अक्सर शिकायतें सुनने में आती रहती हैं, लेकिन मंगलवार को कंडोली के काली मंदिर मोहल्ले में बिजली विभाग के लोग जबरदस्ती हाइटेंशन लाइन बिछाने पहुंच गए। मोहल्लेवालों के विरोध को दबाने के लिए उन्होंने पुलिस भी बुला ली लेकिन मामला बिगड़ता देख बिजली विभाग के अफसर और कर्मियों ने हाईटेंशन लाइन के विरोध में स्वयं लिखी अर्जी पर क्षेत्रवासियों से दस्तखत करवाये और वहां से चलते बने। मोहल्ले वालों ने आरोप लगाया है कि उनके क्षेत्र में लगे मोबाइल टॉवर के लिए हाईटैंशन लाइन बिछाई जा रही है।

मंगलवार को कंडोली क्षेत्र स्थित काली मां मंदिर मोहल्ले वाले उस समय चौंक गए जब बिजली विभाग के लोग बिना उनकी मांग के हाईटैंशन लाइन बिछाने पहुंच गए। बिजली के खंभों को खड़ा करने के लिए खुदाई कार्य होता देखकर उन्हें सारे मामले का पता चला तो बिना उनकी मांग के उन्हांने हाईटैंशन लाइन बिछाये जाने का विरोध करना शुरू कर दिया। विरोध बढ़ता देख विभाग के कर्मियों की सूचना पर उनके अफसर भी मौके पर पहुंच गए। हाईटैंशन लाइन बिछाए जाने पर लोगों के विरोध के जवाब में उन्होंने नगर निगम के नाले के आसपास बसी बस्तीवासियों के यहां लो वोल्टेज की समस्या के निराकरण की बात कही। जबकि मोहल्ले वालों ने आरोप लगाया है कि उनके क्षेत्र में लगे मोबाइल टॉवर के लिए हाईटैंशन लाइन बिछाई जा रही है।

मामला बिगड़ता देख विभाग की जेई ने पुलिस को फोन कर दिया। मोहल्लेवालों की दलील सुनकर पुलिस मूकदर्शक बनी रही। आखिरकार विभाग की ओर से स्वयं लिखी अर्जी पर क्षेत्रवासियों से दस्तखत करवाये और वहां से चलते बने। मोहल्ले वालों ने यह भी आरोप लगाया है कि पूर्व में भी मोबाइल का ठेकेदार हाईटैंशन लाइन बिछवाने आया था लेकिन लोगों के विरोध के चलते वह चला गया था। इस बार उसने बिजली विभाग के अफसरों को भेजा। उनका यह भी कहना है कि किसी भी सूरत में हाईटैंशन लाइन नहीं बिछने दी जाएगी।

मोहल्लेवालों को दी बिजली काटने की धमकी :

काली मंदिर मोहल्ले के लोगों ने यह आरोप भी लगाया है कि हाईटैंशन लाइन का विरोध करने पर क्षेत्र के बिजली विभाग के एई ने उनके मोहल्ले की बिजली काटने की धमकी भी दी है। मामले की शिकायत वह विभाग के उच्च अफसरों से करेंगे।

LEAVE A REPLY