Home संस्कृति एवं संभ्यता सलाण गांव ने जीती थड़िया-चौंफला प्रतियोगिता

सलाण गांव ने जीती थड़िया-चौंफला प्रतियोगिता

890
0
SHARE

पौड़ी। पोखड़ा ब्लॉक के सलाण गांव में आयोजित सांस्कृतिक कौथीग में सलाण गांव ने थड़िया-चौंफला प्रतियोगिता अपने नाम की। प्रतियोगिता में पालीधार ने दूसरा और मालकोट की महिलाओं ने तीसरा स्थान हासिल किया।

मेरू मुलुक संस्था और ग्राम पंचायत सलाण के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सांस्कृतिक उत्सव में पोखड़ा ब्लाक के 13 महिला मंगल दल व समूहों ने प्रतिभाग किया। ग्रामीण क्षेत्र में पहली बार लोक संस्कृति पर केंद्रित इस आयोजन में ग्रामीण महिलाओं ने पूरे उत्साह के साथ अपनी प्रतिभा दिखाई। प्रतियोगिता में सलाण, मालकोट, किमगड़ी, पालीधार, ड्वीला तल्ला-मल्ला, श्रीकोट, गवांणी, झलपाड़ी, चरगाड सहित कुल तेरह दलों ने प्रतियोगिता में भाग लिया। आयोजन में लोक गायक अनिल बिष्ट, हास्य कवि हरीश जुयाल कुट्ज व राकेश खंतवाल ने भी अपनी प्रस्तुतियां दीं। लोक संस्कृति के संरक्षण के लिए की गई इस पहल को और व्यापक स्तर पर प्रस्तुत करने का संकल्प भी आयोजकों द्वारा लिया गया।

प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में लोक गायक व निर्देशक अनिल बिष्ट, युवा कल्याण समिति के जिला अध्यक्ष त्रिभुवन उनियाल, गढ़वाली साहित्यकार मदनमोहन डुकलान, संस्कृतिकर्मी गणेश खुगशाल ’गणी’ व गढ़वाली कवि धर्मेंद्र नेगी शामिल थे। मुख्य अतिथि ब्लाक प्रमुख पोखड़ा सुरेंद्रसिंह रावत, जिला पंचायत सदस्य परवेश सुंदरियाल, आयोजन समिति के अध्यक्ष नारायणसिंह रावत, ग्राम प्रधान विमला नेगी, महिला मंगलदंल अध्यक्षा मालती देवी आदि ने विजेता व प्रतिभाग करने वाले महिला मंगल दलों को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम का संयोजन व संचालन गढ़वाली कवि व साहित्यकार गिरीश सुंदरियाल ने किया।

Key Words : Uttarakhand, Pauri, salan, women, award

LEAVE A REPLY