Home क्राइम सेलाकुई पुलिस ने तेंदुवे की खाल के साथ तीन धरे

सेलाकुई पुलिस ने तेंदुवे की खाल के साथ तीन धरे

799
0
SHARE

सहसपुर। थाना सहसपुर पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर तीन तस्करों को तेंदुवे की खाल के साथ गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। तस्करों ने तेंदुवे को मोहन्ड के जंगल में मारा और उसकी खाल उतारकर बेचने की तैयारी में थे। खाल की कीमत तकरीबन 5 लाख बताई जा रही है। गिरफ्तार आरोपियों में फरमूद पहले भी विभिन्न धराओं में जेल जा चुका है। पुलिस तस्करों के गिरोह का सुराग जुटाने में लगी है।

बुधवार को सेलाकुई चौकी पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि तीन व्यक्ति पल्सर मोटर साईकिल नंबर यूके07-7209 पर सवार होकर तेंदुवे की खाल को बेचने के लिए प्रेमनगर जा रहे हैं। पुलिस ने तीनों व्यक्तियों को पकड़ने के लिए जाल बिछाया। रात करीब नौ बजे सिंहनीवाला तिराहा, धूलकोट के जंगल के पास एक मोटर साईकिल पर तीन व्यक्ति आते दिखाई दिए तो पुलिस ने उन्हें घेर कर पकड़ लिया। तलाशी लेने पर बाइक से तेंदुवे की एक खाल बरामद की गई जिसकी कीमत लगभग 5 लाख बताई जा रही है।

पकड़े गए तस्करों नूर मोहम्मद पुत्र इलमदी निवासी ग्राम मोहन्ड थाना बिहारीगढ़ जिला सहारनपुर यूपी व सैफ अली पुत्र गामी अली निवासी हथनीकुंड थाना मिर्जापुर जिला सहारनपुर यूपी हाल डेरा निकट ट्रेचिंग ग्राउंड सिंहनीवाला थाना सहसपुर वन गूर्जर है। पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने तेन्दुवे को करीब 5-6 दिन पहले ही मोहन्ड के जंगल में मारा था तथा उसकी खाल उतार दी थी और वे खाल बेचने के लिए प्रेमनगर जा रहे थे। गहन पूछताछ में तीनों आरोपियों ने पूर्व में एसटीएपफ द्वारा वन्य जीव जन्तु तस्करी में जेल भेजे गए तस्कर गैंडीखाता निवासी अलीजान, युसुफ व दाउद के गैंग का सदस्य होना बताया। पुलिस ने तीनों आरोपियों को वन्य जीव जन्तु संरक्षण अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, Selakui police, leopard skins

 

 

LEAVE A REPLY