Home स्वास्थ्य दून के संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर में खुला जन औषधि केन्द्र

दून के संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर में खुला जन औषधि केन्द्र

853
0
SHARE

देहरादून। संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर में जिलाधिकारी एवं अध्यक्ष जनपदीय रेडक्रास सोसाईटी एसए मुरूगेसन ने मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग करते हुए रेडक्रास द्वारा संचालित प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केन्द्र का उद्घाटन किया।

इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि सभी जानते हैं अधिकतर ब्रांडेड दवाईंया भारत में अधिक मूल्य पर विक्रय की जाती है, जिस कारण भारत की जनसंख्या का एक बड़ा भाग जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहा है ऐसी उच्च मूल्यों वाली दवाओं को क्रय करने में असमर्थ रहता है। उन्होने कहा चूंकि दवाएं खरीदनी अनिवार्य होती हैं, जिसके चलते मेडिकल बिल की वजह से जनसंख्या का बड़ा भाग गरीबी रेखा से नीचे चला जाता है। उन्होने कहा कि इसी को मद्देनजर रखते हुए भारत सरकार द्वारा उचित गुणवत्ता वाली तथा निर्धनों के पंहुच में रहने वाली जेनरिक दवाईयों को बहुत कम मूल्य पर उपलब्ध कराये जाने के लिए प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना के तहत प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केन्द्र खोले जा रहे हैं। उन्होने कहा कि हमें आशा है कि इन जन औषधि केन्द्रों के खुलने से लोगों को सस्ती दरों पर गुणवत्ता वाली दवाएं उपलब्ध हो पायेंगी, जिससे गरीब लोग भी बेहतर इलाज करा पाने में सक्षम हो पायेंगे।

महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ डीएस रावत ने कहा कि जनपद में यह 5 वां जन औषधि केन्द्र खोला गया है तथा आगे भी इस तरह के अन्य केन्द्र आवश्यकतानुसार खोले जायेंगे। उन्होने कहा कि स्वास्थ्य विभाग, रेडक्रास सोसाईटी, विभिन्न गैर सरकारी संगठनों तथा जिला स्तरीय सभी विभागों को आपसी समन्वय के साथ जन औषधि केन्द्रों के बारे में लोगों को जागरूक करने तथा इस ओर सभी नई पहल को शामिल किये जाने की आवश्यकता पर बल दिया।

इस अवसर पर उत्तराखण्ड रेडक्रास सोसाईटी के चैयरमैन, पूर्व विधायक मसूरी रंजीत वर्मा, पूर्व महानिदेशक स्वास्थ्य डॉ आरपी भट्ट, संयुक्त चिकित्सालय प्रेमनगर की प्रधानाचार्य डॉ भारती गुप्ता, सलाहकार मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ नूतन भट्ट व डॉ दयाल शरण, समाज सेवक मोहन खत्री सहित भारतीय रेडक्रास सोसाईटी जनपद देहरादून की शाखा के सचिव डॉ एमके अंसारी आदि मौजूद थे। संचालन जितेन्द्र बुटोइया ने किया।

Key Words : Uttarakhand, Dehradun, public drug center

LEAVE A REPLY