Home स्वास्थ्य सीमान्त क्षेत्रों में जल्द शुरू होंगी ईसीएचएस पॉलीक्लीनिक सुविधाएं

सीमान्त क्षेत्रों में जल्द शुरू होंगी ईसीएचएस पॉलीक्लीनिक सुविधाएं

1048
0
SHARE

देहरादून। मसूरी विधायक गणेश जोशी ने बुधवार को नई दिल्ली में भारतीय सेना के डीजीएमओ अनिल भट्ट से मुलाकात कर उत्तराखंड के दूरस्थ इलाकों में ईसीएचएस एमएच, उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में निवास करने वाले युवाओं को ऊंचाई में छूट एवं के मुद्दे को उठाया। विधायक जोशी ने कहा कि यह मामला जितना सैनिको को चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने से जुड़ा है उतना ही चिकित्सा सुविधाओं के अभाव में सीमान्त इलाकों से हो रहे पलायन से भी। मामले में डीजीएमओ भट्ट ने कहा कि हम इस दिशा में उतने ही गम्भीरता से प्रयास कर रहे हैं और आश्वस्त किया कि सीमान्त क्षेत्रों में भी जल्द ही ईसीएचएस पॉलीक्लीनिक की सुविधाएं प्रदान की जाएंगी।

विधायक जोशी ने सेनाध्यक्ष जनरल विपिन रावत से मुलाकात के दौरान राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों से हो रहे पलायन को रोकने के लिए कश्मीर की तर्ज पर सेना की मदद से हर परिवार की देख-रेख में अखरोट एवं अन्य फलदार वृक्षों को लगाने का प्रस्ताव रखा था। इसी क्रम में आज डीजीएमओ भट्ट को अवगत कराते हुए कहा कि सेना द्वारा इस पहल को अतिशीघ्र करती है तो इससे पर्वतीय क्षेत्रों में रह रहे परिवारों की आर्थिकी को बल मिलेगा और पलायन पर नियत्रंण किया जा सकेगा। डीजीएमओ ने कहा कि सेना द्वारा प्रथम चरण में पाईलट प्रोजेक्ट के तौर पर जनपद चमोली के मलारी से अखरोट के पेड़ लगाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है। अधिक बर्फ होने के कारण इस वक्त यह कार्य रुका हुआ है। मौसम अनुकूल होते ही इसे पुनः आगे बढ़ाया जाएगा।

साथ ही अपनी पूर्व मांगो को दोहराते हुए विधायक जोशी ने डीजीएमओ को अवगत कराया कि पहाड़ी क्षेत्रों में निवास करने वाले युवाओं को ऊंचाई में छूट दिये जाने का प्रस्ताव सेना के पास है। जिसमें अतिशीघ्र कार्यवाही की जानी आवश्यक है। डीजीएमओ ने अवगत कराया कि इस प्रस्ताव पर पूर्ण वार्ता हो चुकी है और उम्मीद है कि दो सप्ताह के भीतर इसका नोटिफिकेशन जारी हो जाऐगा। साथ ही प्रत्येक 6 माह के अन्तराल में शिविर लगाकर देहरादून में गोरखा युवकों के लिए भर्ती का आयोजन किया जाएगा।

मसूरी में खुलेगा ट्रामा सेंटर :
देहरादून। बुधवार को मसूरी विधायक गणेश जोशी ने नई दिल्ली में हंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन माता मंगला से भेंट कर मसूरी में ट्रामा सेंटर खोलने की बात कही। उन्होनें माता मंगला को अवगत कराया कि पहाड़ी क्षेत्र होने के कारण मसूरी रुट में आये दिन दुर्घटनाऐं होती रहती है किन्तु समय पर इलाज ना मिलने के कारण कई बार दुर्घटना के शिकार हुऐ लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ता है। उन्होनें अनुरोध किया कि मसूरी विधानसभा क्षेत्रार्न्तगत पहाड़ी इलाके में ट्रामा सेंटर खोला जाए। माता मंगला ने विधायक जोशी को आश्वस्त किया कि राज्य सरकार द्वारा जमीन उपलब्ध कराये जाने के बाद संस्था द्वारा अगले 6 माह के भीतर प्री-फेब्रिकेडेट ट्रामा सेंटर खोल दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY