Home उत्तराखंड उत्तरीकड़ाकोट कल्याण समिति की बैठक – 17 दिसम्बर कोठुली में होगा दो...

उत्तरीकड़ाकोट कल्याण समिति की बैठक – 17 दिसम्बर कोठुली में होगा दो दिवसीय कृषि मेले का आयोजन

921
0
SHARE

देहरादून। उत्तरीकड़ाकोट क्षेत्र में कृषि औद्योगिकी एवं औद्योनिक मेले के आयोजन को लेकर उत्तरीकड़ाकोट कल्याण समिति की बैठक समिति के अध्यक्ष डीपी देवराडी की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस दौरान समिति के अध्यक्ष ने बताया कि कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल 17 दिसम्बर को कोठुली में मेले शुभारम्भ करेंगे।

शुक्रवार को दून के अकेता इनक्लेव देहरादून में आयोजित बैठक में उत्तरीकड़ाकोट कल्याण समिति के अध्यक्ष डीपी देवराड़ी ने बताया कि कड़ाकोट में पारंपरिक खेतीबाड़ी और कृषकों को नवीन तकनीक के साथ क्षेत्र के विकास को लेकर दो दिवसीय मेले का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन से वार्ता उपरांत मेले में विभागीय योजनाओं की जानकारी देने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। समिति द्वारा निर्णय लिया गया कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की अध्यक्षता में मेले को संचालित करने के लिए कमेटियों का गठन किया जाएगा। साथ ही मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए स्कूली बच्चों का सहयोग भी लिया जाएगा। उन्हांेने यह भी बताया कि सूबे के पंचायतीराज विभाग के सहयोग से मेले में पंच सम्मेलन का आयोजन भी प्रस्तावित है।

बैठक में पूर्व वनसंरक्षक मनवर सिंह नेगी ने सुझाव दिया कि किसानों को कृषि एवं उद्यान को क्षेत्र में प्रोत्साहित करने के लिए मेले में तकनीकी विषयों पर गोष्ठियों के आयोजन एवं साथ ही तकनीकी कृषि उपकरणों की प्रदर्शनी बेहद लाभकारी साबित होगी। उन्होंने कहा कि स्वैच्छिक संस्थाओं को भी इस आयोजन में अनुभवों को साझा करने के लिए बुलाना उचित रहेगा। युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए कौशल विकास सम्बंधी जानकारियों का प्रदर्शन भी मेले में किया जाना चाहिए।

समिति की सदस्य कंचन देवराडी ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों को सम्मानित करना भी मेले की गतिविधियों में शामिल किया जाना चाहिए। समिति के सचिव प्रकाश रतूडी ने कहा कि मेले में स्थानीय, विद्यायक एव राज्य स्तरीय अधिकारियों को भी आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मेले में जनप्रतिनिधियों, स्वयं सहायता समूहों, महिला मंगल दलों युवक मंगल दलों, समााजिक कार्यकर्ताओं की पूर्ण सहभागिता मेले के उद्ेश्यों को साकार करने में सहायक होगी।

समिति के उपाध्यक्ष मोहन सिंह नेगी, कोषाध्यक्ष कान्ता प्रसाद सती एवं कर्णसिंह बिष्ट ने कहा कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों की मेले के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका को नाकारा नहीं जा सकता इस लिए मेले की रूपरेखा तैयार कर क्षेत्र में एक बैठक का आयोजन महत्वपूर्ण है।

समिति के सदस्य वीरेन्द्र सिंह नेगी, योगेश देवराडी, उमादत्त देवराडी, सुदर्शन सिंह नेगी, रतन  सिंह नेगी ने सुझाव दिया कि मेले को भव्य बनाने के लिए जिला स्तर पर नेटवर्किग की जाय तथा जिला स्तरीय अधिकारियों को भी मेले में आमंत्रित किया जाय। समिति के मीडिया प्रभारी शिव प्रसाद सती एवं महामंत्री प्रकाश देवराड़ी द्वारा सुझाव दिया गया कि मेले में स्थानीय सांस्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित किये जाएं।

मेले के संचालन से सम्बन्धित व्यवस्थाओं के लिए कमेटी का गठन भी किया गया जिसमें बलवन्त सिह नेगी, डीपी देवराडी, मनवर सिंह, मोहन सिंह नेगी, शिव प्रसाद सती, रतन सिंह नेगी, सूरत सिंह सौरियाल कर्णसिंह विष्ट, सूदर्शन  सिंह नेगी को जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों से समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी गई।

 

LEAVE A REPLY